मियादी (typhoid) बुखार,के कारण,लक्षण और उपचार

मियादी (typhoid) बुखार,के कारण,लक्षण और उपचार

हेलो दोस्तों स्वागत है हमारी health in hindi tips वेबसाइट में दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम मियादी बुखार के कारण लक्षण और इसका इलाज के बारे में बात करने वाले हैं, कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जानने वाले हैं जिससे आप मियादी बुखार की पहचान कर सकते हो और इसका इलाज करवा सकते हो और साथ में आप मियादी बुखार जैसी खतरनाक बीमारी से बच सकते हो
मियादी (typhoid) बुखार,के कारण,लक्षण और उपचार

मियादी बुखार के कारण

मियादी बुखार बहुत ही बड़ी समस्या है जो सालमोनेला टायफी नामक बैक्टीरिया के कारण होता है इसे टाइफाइड फीवर के नाम से भी जाना जाता है मियादी बुखार एक संक्रामक रोग है जो दूसरे रोगियों के कारण भी फैलता है और इसका मुख्य कारण स्वच्छ भोजन और स्वच्छ पानी ना पीने के कारण मियादी बुखार होने की संभावना बढ़ती है दूषित भोजन दूषित पानी से नहाने और पीने के माध्यम से  टाइफाइड बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश कर जाता है जो अपना असर दिखाना शुरू कर देता है यह टाइफाइड बैक्टीरिया हमारे शरीर के अंदर रक्त और लीवर में पहुंच जाता है और टाइफाइड बैक्टीरिया हमारे शरीर के अन्य भागों में भी पहुंच जाते हैं जो अपना असर दिखाने लगता है जिससे आंतरिक बुखार उत्पन्न होता है इसका समय पर इलाज कराना बहुत ही जरूरी है क्योंकि यह एक बहुत बड़ी बीमारी है जो कभी-कभी हमारे लिए घातक सिद्ध भी हो सकती है काफी लंबे समय से अगर यह बीमारी है तो इससे मृत्यु का खतरा भी रहता है

मियादी बुखार के लक्षण

मियादी बुखार के लक्षण को पहचान कर आप मियादी बुखार की पहचान कर सकते हो और उसका समय पर इलाज करा कर आप उससे छुटकारा पा सकते हो तो चलिए जानते है मियादी बुखार के लक्षण-

1. मियादी बुखार में तेज बुखार आता है यह बुखार 104 डिग्री तक भी हो सकता है

2. मियादी बुखार में बुखार के साथ-साथ पसीना भी आता है

3. मियादी बुखार की समस्या में गले में खराश की प्रॉब्लम भी होती है

4. मियादी बुखार में तेज सिर दर्द करता है

5. मियादी बुखार में उल्टी आना और साथ में पेट दर्द भी करता है

मियादी बुखार के उपचार 

सबसे पहले आपको खूबकला और मुनक्का लेना है इन दोनों को आपस में मिक्स करके इसकी गोलियां बना लेना है सुबह या शाम को इसकी गोलियां खाना है

इसके बाद में आप सुबह गिलोय का पानी है इसमें आपको एक गिलोय की डंडी लेना है यह गिलोय की डंडी आपको नीम के पेड़ की मिलती है तो बहुत ही अच्छा है गिलोय को काटकर घर ले आएं और इसे सुखा कर इसे थोड़ा किसी से कुचलकर पानी के साथ उबालने के बाद में इसे चलनी से छान लें और फिर इसके पानी को आपको पीना है ऐसा आपको 7 से 8 दिन तक करना है अगर आपको फायदा दिखता है तो आप से 15 दिन तक पिए
मियादी (typhoid) बुखार,के कारण,लक्षण और उपचार

मियादी बुखार में सावधानियां

1. मियादी बुखार मैं आपको हमेशा शुद्ध खाना-पीना का प्रयोग करें

2. मियादी बुखार मैं आपको चिकन या अंडे आदि का प्रयोग नहीं करना चाहिए

3. मियादी बुखार मैं आपको ज्यादा तेज  मसालों के प्रयोग से भी बचना चाहिए

4. मियादी बुखार में आपको रोटियों के साथ बिना तेल में बगरी दाल का प्रयोग करते हो तो आपके लिए बहुत लाभकारी होगा


ये पोस्ट भी पड़े -

Eye Care Tips In Hindi | आंखों के लिए विटामिन फूड्स

Cute nickname for girlfriend in Hindi

नोट- दोस्तों अगर ाआपको हमारी पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों को शेयर जरूर करें 

Post a Comment

और नया पुराने